आस्था

त्राटक साधना

त्राटक एक ऐसी साधना विधि है, जो आपको शून्य में ले जाने में सहायता करती है, जो आपको आपके अस्तित्व को भुला देने में सहायता करती है, जिसके द्वारा हम प्रकृति से लयबद्ध हो सकते हैं। त्राटक विधि आतंरिक ध्यान साधना के पहले एक तरह की रिहर्सल साधना है, लेकिन इसे हलके में लेने की भूल नहीं की जा सकती। …

और पढ़ें »

ध्यान एक रहस्य

ध्यान क्या है? कुछ लोगों के लिए यह एक शांति देने की विधा है, कुछ इससे अपने मन-मस्तिष्क को शांत करने का प्रयास करते हैं तथा कुछ लोग इसके द्वारा यह प्रयास करते हैं कि स्वयं के भीतर क्या है। वास्तव में ध्यान को मात्र ताज़गी अथवा क्षणिक शांति की राह समझ लेना, ध्यान कला के साथ न्याय नहीं है। …

और पढ़ें »

जानिए क्यों हैं ख़ास महा मृत्युंजय मंत्र !

शिव का सबसे प्रिय और सबसे प्रवभशाली मंत्र हैं महामृत्युंजय मंत्र हौं जूं सः। ॐ भूः भुवः स्वः ॐ त्रयम्बकं यजामहे सुगन्धिं पुष्टिवर्धनम्। उव्र्वारूकमिव बन्धनान्मृत्योर्मुक्षीय मामृतात्।। ॐ स्वः भुवः भूः ॐ । ॐ सः जूं हौं। यह मंत्र भगवान शिव का सबसे बड़ा और प्रिय मंत्र माना जाता है। हिंदू धर्म में महामृत्युंजय मंत्र को प्राण रक्षक और महामोक्ष मंत्र …

और पढ़ें »

भारत ने स्तिथ नहीं है दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर !

अंकोर कंबोडिया है दुनिया का सबसे बड़ा मंदिर यह क्षेत्रफल में 820,000 वर्ग मीटर का है अंकोरवाट मंदिर पुरे विश्व के किसी भी धर्मस्थल में सबसे बड़ा मंदिर है जो 12वीं शताब्दी में राजा सूर्यवर्मन ll के द्वारा बनवाया गया था | इस मंदिर को दुनिया का आँठवा अजूबा भी माना जाता है! ख्मेर शास्त्रीय शैली से प्रभावित स्थापत्य वाले …

और पढ़ें »

क्यों है हिन्दू धर्म ख़ास ? जानिए इसके कुछ रोचक तथ्य !

हिन्दू धर्म अपने आप में ही एक विशेष धर्म है! हिन्दू धर्म विश्व के सबसे प्राचीनतम धर्मों में से एक है इसमें कोई दो राय नहीं ! पर इस धर्म में कई ऐसी चीज़ें है जो इसे बाकी धर्मों की तुलना से भिन्न तो बनाती ही हैं साथ में एक ऐसा आधार भी देती हैं जो इसे मानने वालों को …

और पढ़ें »

कैलाश पर्वत से जुडी कुछ रोचक बातें !

कैलाश पर्वत भगवान शिव का निवास स्थान माना जाता है ! भगवान शिव दुनिया के सभी धर्मों का मूल हैं और हिन्दू धर्म में भगवान शिव को मृत्युलोक का देवता माना गया है! शिव का न तो कोई आरम्भ है और न तो कोई अंत है ! इसीलिए वे अवतार न होकर साक्षात ईश्वर हैं! इसके अलावा कैलाश पर्वत की …

और पढ़ें »

किस संख्या को माना जाता है हिन्दू धर्म में सबसे पवित्र ?

१०८ को माना जाता है हिन्दू धर्म में सबसे पवित्र संख्या ! हिन्दू धर्म में किसी भी शुभ कार्य व अध्यात्मिक व्यक्ति के नाम के पहले श्री श्री 108 लगाया जाता है। क्या आप जानते हो कि 108 अंक का क्या महत्व है ? वेदान्त में एक मात्रकविहीन सार्वभौमिक ध्रुवांक 108 का उल्लेख मिलता है जिसका अविष्कार हजारों वर्षों पूर्व …

और पढ़ें »

3 in 1 गणेश जी की आरती

ॐ श्री गणेशाय नमः ! वक्रतुंड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ:। निर्विध्नं कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा॥ सुखकर्ता दुखहर्ता वार्ता विघ्नाची | नुरवी पूर्वी प्रेम कृपा जयाची | सर्वांगी सुंदर उटी शेंदुराची | कंठी झरके माल मुक्ताफळाची || १ || जय देव जय देव जय मंगलमूर्ती | दर्शनमात्रे मनकामना पुरती || रत्नखचित फरा तूज गौरीकुमरा | चंदनाची उटी कुंकुमकेशरा | हिरे जडित …

और पढ़ें »

क्या आप माँ दुर्गा के 108 नाम जानते हैं

जानिए माँ दुर्गा के १०८ नाम वेबहाल की ओर से इस नवरात्री पर | 1. सती  : अग्नि में जल कर भी जीवित होने वाली 2. साध्वी : आशावादी 3. भवप्रीता : भगवान् शिव पर प्रीति रखने वाली 4. भवानी : ब्रह्मांड की निवास 5. भवमोचनी :  संसार बंधनों से मुक्त करने वाली 6. आर्या : देवी 7. दुर्गा :  …

और पढ़ें »